गायों की सुरक्षा के मामले में सभी पार्टियों के एक रवैये पे जनता क्या समाधान निकाले?

Note: सभी कार्यकर्ता अपने हर स्तर के अफसरों को कहें कि वे ऐसी वेबसाईट बनाएँ जिसमें देश के किसी  भी नेता का नाम डालकर उनके द्वारा समर्थित या विरोध हुआ बिल का पता चले और बिल का पीडीऍफ़ भी दिखे. 

यदि मोदी जगह प्रभु श्री राम जी भारत के प्रधानमंत्री बन जाएं लेकिन क़ानून ये ही रहें तब ।
.
1- क्या भारत शक्तिशाली देश बन जाएगा?
2- क्या भारत से गरीबी दूर होगी ?
3- क्या भारत में रोजगार होंगे ?
4- क्या भारत की सभी समस्याओं का समाधान हो जाएगा ?
—- उत्तर > नहीं। क्यों ?

 शासन व्यवस्था कानूनों से चलती है जब कभी भारत में रामराज्य था तब क़ानून अच्छे थे इसलिए राष्ट शक्तिशाली व समस्या रहित था। अब क़ानून अयोग्य हैं इसलिए देश में समस्याओं का अम्बार लगा हुआ है।
.
 अंधभक्त कहतें हैं कि देश का विनाश नेहरू ने किया (मेरे लिए नेहरू एक कारण मात्र है पूर्ण नहीं।) यदि ऐसा होता तो अब तो भक्तों के प्रभु मोदी जी प्रधानमंत्री हैं।फिर समस्याओं का समाधान क्यों नहीं हुआ ?
— मोदीभक्त > 60-70 साल में गड्ढा गहरा कर दिया मेरे प्रभु मोदी जी इन्हें 50-60 महीने में कैसे भरेंगें ?
BS >यदि मोदी जी ये क़ानून राजपत्र में छाप देते हैं www.righttorecall.info/301.h तो भारत की 99% समस्याओं का समाधान 6 महीने में ही हो जाएगा हाँ सेना को शक्तिशाली बनाने के लिए 5-10 लग सकते हैं।क्योंकि तकनीक विकसित करने में समय लगता है।
..
“महात्मा राजीव दिक्षित जी” ने रामायण को समाधान के रूप में बताया है राम जी को नहीं https://www.youtube.com/watch?v=G0LtKN39eT0

 मित्रों, आज गाय एक राजनैतिक सवारी बन चुकी है. भाजपा ने गौ रक्षा बिल वापस लेने को कहा.
.
 अटल जी के कार्यकाल में तब के कृषिमंत्री राजनाथ जी ने गौ रक्षा बिल संसद में रखा था लेकिन ममता के विरोध के कारण ये बिल वापस ले लिया था। तब इसका ठींगरा ममता के सर पर फोड़ा गया था जो उचित भी था।
.
अब सुब्रमण्यम स्वामी ने गौ रक्षा बिल राजयसभा में रखा व कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने वापस लेने को कहा। क्यों ?
क्योंकि गाय भाजपा को वोट देती है।
.
 #सुब्रमण्यम स्वामी ने राज्यसभा में गौ रक्षा बिल पेश किया, उन्होंने पूर्ण रूप से #गाय के वैज्ञानिकी, धार्मिक, संवैधानिक इत्यादि महत्व को विस्तारपूर्वक समझाया। उन्होंने सर्वोच्च न्यायालय के गौ रक्षा संबंधित दो महत्वपूर्ण निर्देशों के विषय में भी बताया और इन सबके उपरांत उन्होंने गौकशी करने वाले को मृत्युदंड देने की बात कही।

विधेयक का समर्थन समाजवादी पार्टी के सांसद #जावेद #अली ने किया व उन्होंने कहा कि गाय को अतिशीघ्र राष्ट्रीय पशु घोषित किया जाना चाहिए व जो देश गाय का मांस हमसे मांगते हैं उनसे हमें व्यावसायिक संबंध नहीं रखने चाहिए।

 कम्युनिस्ट पार्टी ने बिल का विरोध किया और कांग्रेस न पूर्ण रूप से समर्थन में थी न विरोध में।

परंतु जिनसे सबसे अधिक उम्मीद थी #भाजपा से उन्होंने अपना दोगलापन बनाये रखा, कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा कि मैं स्वामी से कहना चाहता हूँ कि हमने पूर्व में ही गौरक्षा हेतु बहुत सी योजनाएं चलाई हुई हैं इसलिए आप विधेयक को वापस ले जाइए।

 श्री राधामोहन ये बताना भूल गए कि वाणिज्य मन्त्रालय ने गौमांस निर्यात को बढ़ाने हेतु अलग से एक कमेटी भी बनाई हुई है, क्या ऐसी दोगली सरकार से हम गौरक्षा की अपेक्षा कर सकते हैं??
लिकं 1.सुब्रमण्यम स्वामी ने गो रक्षा बिल रखा
https://youtu.be/7mbfr_di4iE

लिकं जिसमे 01.46मिनट पर मत्रीजी समझाते हुए बिल वापिस लेने का बोल रहे है फिर स्वामीजी का रिप्लाई भी
https://youtu.be/vgEwtqQZxEg

  समाधान :-

गोहत्या कम करने के लिए प्रस्तावित कानूनी ड्राफ्ट : fb.com/notes/1476076805818637

सांसद व विधायक के नंबर यहाँ से देखें nocorruption.in/

🚩 अपने सांसदों/विधायकों को उपरोक्त क़ानून को गजेट में प्रकाशित कर तत्काल प्रभाव से क़ानून लागू करवाने के लिए उन पर जनतांत्रिक दबाव डालिए, इस तरह से उन्हें मोबाइल सन्देश या ट्विटर आदेश भेजकर कि:-
.

” माननीय सांसद/विधायक महोदय, मैं आपको अपना एक जनतांत्रिक आदेश देता हूँ कि‘ “गोहत्या कम करने के लिए प्रस्तावित कानूनी ड्राफ्ट : fb.com/notes/1476076805818637

को राष्ट्रीय गजेट में प्रकाशित कर तत्काल प्रभाव से इस क़ानून को लागू किया जाए, नहीं तो हम आपको वोट नहीं देंगे.
धन्यवाद,
मतदाता संख्या- xyz ”
इसी तरह अन्य ड्राफ्ट के लिए भी आदेश भेज सकते हैं .
.
आप ये आदेश ट्विटर से भी भेज सकते हैं. twitter.com पर अपना अकाउंट बनाएं और प्रधामंत्री को ट्वीट करें अर्थात ओपन सन्देश भेजें.

ट्वीट करने का तरीका: होम में जाकर तीन टैब दिखेगा, उसमे एक खाली बॉक्स दिखेगा जिसमे लिखा होगा कि “whats happening” जैसा की फेसबुक में लॉग इन करने पर पुछा जाता है कि आपके मन में क्या चल रहा है- तो अपने ट्विटर अकाउंट के उस खाली बॉक्स में लिखें  ” @PMO India I order you to print draft “#SAVECOW #STOPCOWKILLING fb.com/notes/1476076805818637 in gazette notification asap” . इसी तरह अन्य ड्राफ्ट के लिए भी आदेश भेज सकते हैं .

बस इतना लिखने से पी एम् को पता चल जाएगा, सब लोग इस प्रकार ट्विटर पर पी एम् को आदेश करें.

याद रखिये कि इस तरह की सभी मांगों के लिए सौ-पांच सौ की संख्या में एकत्रित होकर ही आदेश भेजिए, इसी तरह से अन्य कानूनी-प्रक्रिया के ड्राफ्ट की डिमांड रखें. यकीन रखे, सरकारों को झुकना ही होगा.

🚩राईट टू रिकॉल, ज्यूरी प्रणाली, वेल्थ टैक्स जैसेे क़ानून आने चाहिए जिसके लिए, जनता को ही अपना अधिकार उन भ्रष्ट लोगों से छीनना होगा, और उन पर यह दबाव बनाना होगा कि इनके ड्राफ्ट को गजेट में प्रकाशित कर तत्काल प्रभाव से क़ानून का रूप दें, अन्यथा आप उन्हें वोट नहीं देंगे.
अन्य कानूनी ड्राफ्ट की जानकारी के लिए देखें fb.com/notes/1479571808802470

********************************************

जय हिन्द, जय भारत, वन्देमातरम ||

 

 

Advertisements