राईट टू रिकॉल कानूनो की व्यवहारिकता को लेकर व्यक्त किए गए कुछ संदेह और उनका निराकरण

"राईट टू रिकॉल कानूनो की व्यवहारिकता को लेकर व्यक्त किए गए कुछ संदेह"  1. राइट टू रिकॉल कानून निश्चित रूप से एक बहुत कारगर हथियार सिद्ध हो सकता है लेकिन सबसे पहले मैं फिर कहता हूं भारतीय जनता को समग्र रूप से शिक्षित होना बहुत आवश्यक है नहीं तो इस कानून का भी भरपूर दुरुपयोग … पढ़ना जारी रखें राईट टू रिकॉल कानूनो की व्यवहारिकता को लेकर व्यक्त किए गए कुछ संदेह और उनका निराकरण

Advertisements

देश में न्यायिक प्रक्रिया में ज्यूरी प्रणाली से औद्योगिक क्रांति लायी जा सकती है? कैसे !

दिल्ली में सीलिंग का षडयंत्र भाजपा कर रही नौटंकी. अस्मिता की राजनीति पूंजीवादी निरंकुशता का अभिन्न अंग है. आमूल परिवर्तनवादी दृष्टि और कार्यपद्धति के लिए पूंजीवादी संस्थाओं को नष्ट करने की प्रतिबद्धता चाहिए। "खुद बागान स्वामी बनने की डाह जनित फंतासी पालते गुलाम अपनी शारीरिक व मानसिक जंजीरों को कभी नहीं तोड़ सकते"- यह मनोवृत्ति गुलामी … पढ़ना जारी रखें देश में न्यायिक प्रक्रिया में ज्यूरी प्रणाली से औद्योगिक क्रांति लायी जा सकती है? कैसे !

बिना स्वदेशी इलेक्ट्रॉनिक चिप निर्माण में आत्मनिर्भरता मिले, देश की सुरक्षा संभव नहीं.

Note: सभी कार्यकर्ता अपने हर स्तर के अफसरों को कहें कि वे ऐसी वेबसाईट बनाएँ जिसमें देश के किसी  भी नेता का नाम डालकर उनके द्वारा समर्थित या विरोध हुआ बिल का पता चले और बिल का पीडीऍफ़ भी दिखे.  जो लोग यह मानते है कि हमारी सेना पर्याप्त मजबूत है जबकि सच्चाई ये है की … पढ़ना जारी रखें बिना स्वदेशी इलेक्ट्रॉनिक चिप निर्माण में आत्मनिर्भरता मिले, देश की सुरक्षा संभव नहीं.

प्रायोजित दंगे, देश का बंटाधार युक्त भविष्य और समाधान

Note: सभी कार्यकर्ता अपने हर स्तर के अफसरों को कहें कि वे ऐसी वेबसाईट बनाएँ जिसमें देश के किसी  भी नेता का नाम डालकर उनके द्वारा समर्थित या विरोध हुआ बिल का पता चले और बिल का पीडीऍफ़ भी दिखे.  समाचारों में बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय ध्वज तिरंगे के यात्रा के लिए किसी अधिकारी … पढ़ना जारी रखें प्रायोजित दंगे, देश का बंटाधार युक्त भविष्य और समाधान

हमारा बिगड़ा हुआ इतिहास, दंगे-फसाद और समाधान

दोस्तों,  मलेशिया एक मुस्लिम बहुल राष्ट्र है जिसका इस्लाम राष्ट्रीय धर्म है। इसके बाद भी संजय भंसाली की 'पद्मावत' मूवी को बैन कर दिया गया है। मलेशिया के सेंसर बोर्ड ने इस विवादित फ़िल्म को, 'नॉट रेलेवेंट'( अप्रसांगिक) टिप्पणी के साथ, 'नॉट एप्रूव्ड लिस्ट'(अस्वीकृत श्रेणी) में डाल दिया है। मलेशिया की सेंसर बोर्ड की नॉट रेलेवेन्ट … पढ़ना जारी रखें हमारा बिगड़ा हुआ इतिहास, दंगे-फसाद और समाधान

राजिव भाई का राईट टू रिकॉल पर सबसे महत्त्वपूर्ण सन्देश

  राजिव भाई का सबसे महत्त्वपूर्ण सन्देश : . https://www.youtube.com/watch?v=EywTrIr3-Mc .   प्रश्नकर्ता : राईट टू रिकॉल पर आपका क्या कहना है ? . राजीव भाई : राईट टू रिकॉल होना चाहिए। होना चाहिए। किन्तु इसके लिए "मौजूदा व्यवस्था" को बदलना होगा। .   प्रश्नकर्ता : कुछ लोग कुतर्क देते है कि "व्यवस्था परिवर्तन" कैसे … पढ़ना जारी रखें राजिव भाई का राईट टू रिकॉल पर सबसे महत्त्वपूर्ण सन्देश

गुटबाजी द्वारा नागरिक विदेशी धनपशुओं की इच्छाएं पूरी कर रहे हैं. भला नागरिक क्या करें ?

 वो देखो ! पेशवा के सिपाही जा रहे हैं !! दंगा फ़ैलाने वाले और उन्हें रचने वाले उन्मादी तुम्हें हजारों साल पहले ले के जायेंगे !! उसका सिला वर्तमान में तुम्हारे द्वारा युद्ध करना और मर-खप जाना है !! दलितों और आदिवासियों का सबसे ज्यादा शोषण तो अंग्रेज़ो के criminal tribe act 1871 ने किया … पढ़ना जारी रखें गुटबाजी द्वारा नागरिक विदेशी धनपशुओं की इच्छाएं पूरी कर रहे हैं. भला नागरिक क्या करें ?